> बेरक्याला माहिती देण्यासाठी ई - मेल करा - berkya2011@gmail.com

गुरुवार, २ जुलै, २०१५

नेताओं से दोस्ती करने वाले पत्रकार रहे सावधान

भाजपा विधायक राम कदम के लोगो ने घाटकोपर के किसी चाय वाले की धुनाई कर दी । चाय वाले ने सुबह उठकर आत्महत्या की कोशिश कर ली । चाय वाले के घर की महिला को फ़ोन कर राम कदम महाशय ने धमका दिया । इसी मामले पर गुरुवार को जय महाराष्ट्र न्यूज़ चैनल पर  विलास आठवले ने राम कदम से कुछ सवाल पूछ लिए । बस फिर क्या था विधायक महोदय ने उक्त रिपोर्टर पर किये अपने एहसानों को गिनाना शुरू कर दिया ।
10 % कोटे के फ्लैट की राशि का भुगतान से लेकर उक्त रिपोर्टर के बीमार पिता के अस्पताल के बिल तक के भुगतान की बात गिनवा डाली ।
पत्रकारों के लिए यह बात तो गंभीरता  का विषय है कि किसी भी राजनीतिज्ञ से मदद लेने से पहले आगे से एक बार सोच विचार अवश्य कर ले ।
हालाकि एक पत्रकार होने के नाते मुझे राम कदम पर गुस्सा अवश्य आ रहा था । लेकिन पत्रकार महोदय की दीनता पर भी कम रोष नहीं था ।


TV JA चे अध्यक्ष असलेल्या आठवलेंनी हे आरोप मुळीच सहन करू नयेत!!! 
कुणीही उठावे आणि पत्रकारांना बदनाम करावे? 
त्यांनी राम कदम यांच्या आरोपात तथ्य नाही, हे जगासमोर उघड करावे!!
आठवाले साहेब, फेकून मारा राम कदमांच्या तोंडावर तुम्ही स्वतः मोबाईल बिले भरत असल्याचे पुरावे !!! 
दूध का दूध आणि पानी का पानी!!
फ़क्त एक आरोप फारच गंभीर आहे की; 80 वर्षीय वृद्धाचे कव्हरेज दाबून सोयीचे व हवे ते दाखविले जात आहे!! तसे असेल तर ते नैतिकतेचा व संकेताचा भंग करणारे आहे!!


अर्थात राम कदमही काही स्वच्छ होत नाहीत!! त्यांनी का भरली आठवलेंची बिले?? का दिलेत त्यांना काही लाख रुपये पूर्वी??(कदम यांच्या दाव्यानुसार) कुठे नेवून ठेवलात.... (जय) महाराष्ट्र माझा!!! 

फेसबुक वर शेअर करा

Facebook